जयपुर शहर के स्वयंसेवको का पारिवारिक स्नेहमिलन तथा स्नेहभोज का कार्यक्रम माननीय संघप्रमुख श्री के पावन सान्निध्य में 27 फरवरी को सम्पन्न हुआ। प्रान्त प्रमुख सुधीर सिंह ठाकरियावास के आवास पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए संघप्रमुख श्री ने कहा कि ‘समाज में श्री क्षत्रिय युवक संघ की जो सकारात्मक छवि है उसके कारण हमारा दायित्व बहुत बढ़ जाता है।जिसे कार्य-कारण का ठीक प्रकार से बोध होता है, जिसे सम्यक जानकारी होती है, वही समाज-हित में कार्य कर सकता है। यदि सही कर्म का बोध होने पर भी हम उसे नहीं करते हैं तो हम चोर हैं। जिस कार्य को समाज में हम निंदनीय मानते हैं, उसे यदि हम स्वयं करते हैं तो उससे निंदनीय कार्य दूसरा कोई नहीं है।’ स्नेहमिलन में जयपुर में 30 नई शाखाएं प्रारम्भ करने हेतु अभियान चलाने का भी निर्णय हुआ तथा इसके लिए उपस्थित स्वयंसेवकों को दायित्व सौंपे गए। कार्यक्रम में जयपुर शहर के लगभग 70 स्वयंसेवक-स्वयंसेविकाएँ उपस्थित थे।

इसी प्रकार उदयपुर शहर में 23 फरवरी को पारिवारिक स्नेहमिलन का कार्यक्रम आयोजित हुआ। वीआईपी कॉलोनी, सेक्टर-09 स्थित श्री रघुवीर सिंह बिखरनियाँ के आवास पर आयोजित इस कार्यक्रम का शुभारंभ गणेश वन्दना तथा प्रार्थना के साथ हुआ। इसके पश्चात आपस में परिचय हुआ। संभाग परकमुख श्री भँवर सिंह बेमला ने पूज्य श्री तनसिंह जी एवं संघ का संक्षिप्त परिचय प्रस्तुत किया। प्रधानाचार्य श्री नरेन्द्र सिंह ढेलाई ने समाज में शिक्षा के प्रसार को महत्त्वपूर्ण बताते हुए कहा कि संघ समाज के लिए अच्छा कार्य कर रहा है जिसमें हम सभी को योगदान करना चाहिए। कार्यक्रम में बी.एन. प्रताप हाउस के छात्रों सहित उदयपुर शहर के स्वयंसेवकों ने भाग लिया। स्नेहभोज के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

Share