पूज्य श्री तनसिंह जी जयन्ती सप्ताह समारोह के दौरान आयोजित हो रहे कार्यक्रमों का क्रम जारी है। जालोर जिले में सायला तहसील के जीवाणा गांव में 23 जनवरी को पूज्यश्री की जयन्ती मनाई गई। केन्द्रीय कार्यकारी रेवन्त सिंह पाटोदा ने बायोसा मंदिर में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि जयन्ती उन्हीं महापुरुषों की मनाई जाती है, जिन्होंने देश व समाज के हित में अपना सर्वस्व समर्पित किया हो। पूज्य श्री तनसिंह जी का भी सर्वस्व समाज को समर्पित था, इसीलिए आज हम सब उनकी जयन्ती मनाने यहां एकत्रित है। पूज्य श्री के जीवन में गीता में वर्णित क्षत्रिय के सातों गुण पूर्ण रूप से ढले हुए थे, इसीलिए वे एक आदर्श क्षत्रिय के रूप में हम सबके लिए प्रेरणास्रोत है। मंगलाचरण से कार्यक्रम के शुभारंभ के पश्चात तनसिंह जी की तस्वीर पर उपस्थित समाजबंधुओं द्वारा पुष्पांजलि अर्पित की गई। सुमेर सिंह कालेवा द्वारा पूज्यश्री का जीवन परिचय प्रस्तुत किया गया।जिला परिषद सदस्य मंगल सिंह सिराणा ने तनसिंहजी के साथ बिताए समय के संस्मरण सुनाए।भवानी सिंह देता ने सभी से क्षत्रिय युवक संघ के मार्ग पर चलने का आह्वान किया। संभाग प्रमुख अर्जुन सिंह देलदरी एवं प्रान्त प्रमुख नाहर सिंह जाखड़ी भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।


प्रताप युवा शक्ति द्वारा श्री क्षत्रिय युवक संघ के संस्थापक पूज्य श्री तन सिंह जी के जयंती के उपलक्ष्य में पुणे में तीन स्थानो पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मंगलाचरण एवं पूज्य श्री तन सिंह जी और माँ भगवती के चरणों में दीप प्रज्वलित करके हुई। संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक हनुमानसिंह बिखरनिया, रघुनाथसिंह बेन्याकाबास, रणजीतसिंह चौक के साथ सर्वश्री मगराज राठी, भरत धर्मावत, देवीसिंह राजावत, उगमसिंह उदावत, राजेंद्रसिंह राखी, गंगासिंह चौहान, मनोहरसिंह देरीया, कानसिंह उदावत, जिवनसिंह खारीया अनावास, भवानीसिंह धुंधाडा, जितेंद्र खत्री, परमवीर सिंह बडी खाटु कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहे। अखिल मंडई मंडल के अध्यक्ष अण्णा थोरात और आईनाथ मंदिर के भोपाजी का विषेश सहयोग रहा। प्रताप युवा शक्ति द्वारा लगातार तीसरे वर्ष आयोजित इस शिविर में कुल 230 युवाओं ने रक्तदान किया। पुणे जिला अध्यक्ष जसवंतसिंह नांदिया और शहर अध्यक्ष महेंद्रसिंह खण्डप ने सभी अतिथियो का स्वागत और आभार प्रकट किया।

उदयपुर में पूज्य तन सिंह जी की जयन्ती का आयोजन 23.01.2018 को पुरोहितो की मादड़ी स्थित महाराणा प्रताप भवन (समाज भवन) में समारोह पूर्वक किया गया। मंगलाचरण, प्रार्थना एवं सहगायन के पश्चात आपस में परिचय किया गया। तत्पश्चात भंवर सिंह बेमला ने पूज्य श्री का जीवन-परिचय प्रस्तुत किया। संस्थान के अध्यक्ष श्री जोध सिंह जी मायदा एवं महेन्द्र सिंह राठौड ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पूज्यश्री के प्रति कृतज्ञता प्रकट की। कार्यक्रम के दौरान सुरेन्द्र सिंह रोलसाबसर, फतह सिंह भटवाडा, भगत सिंह बेमला, श्रवण सिंह बिजेरी, सवाई सिंह बिजेरी आदि उपस्थित रहे। इसी प्रकार बालोतरा स्थित वीर दुर्गादास राजपूत होस्टल में भी 23 जनवरी को पूज्य श्री की जयन्ती शाखा स्तर पर मनाई गई, जिसमें मैदान सिंह नौसर, पदम सिंह भाऊड़ा, होस्टल वार्डन बलवंत सिंह कोटड़ी सहित अनेकों समाजबंधु उपस्थित रहे।

Share