इस सप्ताहांत में सांचोर प्रान्त के सुरावा, बनासकांठा प्रान्त के थराद, अहमदाबाद ग्रामीण प्रान्त के काणेटी, ओसियां प्रान्त के बापिणी गांव एवं बाड़मेर स्थित मल्लीनाथ छात्रावास में प्रांतीय स्नेहमिलन सम्पन्न हुए। 24 मार्च को सुरावा में स्वयंसेवक दुर्ग सिंह के आवास पर आयोजित बैठक संभाग प्रमुख श्री अर्जुन सिंह देलदरी तथा वरिष्ठ स्वयंसेवक किशन सिंह सुरावा की उपस्थिति में सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान प्रान्त के करड़ा, कारोला व पूरण गाँवों में प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर के आयोजन, ओटीसी में प्रान्त से 50 से अधिक संख्या भेजने, संघशक्ति-पथप्रेरक की सदस्यता बढ़ाने, इस सत्र में जयन्ती कार्यक्रम आदि विषयों पर चर्चा हुई। बैठक से पूर्व सुरावा के शाखा स्थल वडेसी माता मंदिर में होमाष्टमी के उपलक्ष्य में यज्ञ किया गया, जिसमें शाखा के स्वयंसेवकों के अतिरिक्त अन्य ग्रामीण बंधु भी सम्मिलित हुए। सहभोज के साथ बैठक का समापन हुआ। इसी प्रकार 24 मार्च को ही बनासकांठा प्रान्त का स्नेहमिलन थराद गांव में श्री शारदा विद्या मंदिर के प्राँगण में वरिष्ठ स्वयंसेवक श्री महेंद्रसिंह पांची तथा श्री दीवानसिंह काणेटी की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। बैठक के दौरान पूज्य श्री तनसिंह जी के स्वप्न को पूरा करने में प्राण-पण से जुट जाने पर चर्चा हुई। 24 मार्च को ही काणेटी स्थित विद्यालय में प्रांतीय स्नेहमिलन सम्पन्न हुआ, जिसमें प्रान्त के 59 स्वयंसेवक सम्मिलित रहे। बैठक में शाखाओं की नियमितता, गांवों में नई शाखाएं प्रारम्भ करने तथा ओटीसी में युवा स्वयंसेवकों को भेजने पर चर्चा हुई। ओसियां प्रान्त की प्रांतीय बैठक बापिणी में गोरख सिंह के आवास पर केन्द्रीय कार्यकारी श्री प्रेम सिंह रणधा के निर्देशन में 25 मार्च को आयोजित हुई, जिसमें उच्च प्रशिक्षण शिविर में प्रान्त से पहुंचने वाली संख्या तथा प्रान्त में आगे होने वाले कार्यक्रमों पर चर्चा हुई। बाड़मेर स्थित मल्लीनाथ राजपूत छात्रावास में 25 मार्च को रामनवमी के अवसर पर स्नेहमिलन का आयोजन हुआ, जिसमें वरिष्ठ स्वयंसेवक श्री किशन सिंह चूली का सान्निध्य रहा। श्री महिपाल सिंह चूली ने स्वयंसेवकों से बाड़मेर स्थित बीजीए आश्रम में 11 से 21 मई तक आयोजित होने वाले उच्च प्रशिक्षण शिविर की तैयारियों पर चर्चा की।

Share