संस्थापक पुज्य श्री तनसिंह जी परिचय

लाखों अनुचरों के प्रेरणादायी मनीषी एक निष्ठ तपस्वी पूज्य तनसिंह जी बाड़मेर जिले के रामदेरिया गांव के ठा. बलवंत सिंह महेचा एवम् शक्ति स्वरूपा माता श्रीमती मोती कंवर जी के सुपुत्र थे। आपका जन्म 25 जनवरी1924 को जैसलमेर जिले के बैरसियाला गांव (ननिहाल) में हुआ। प्रारंभिक शिक्षा बाड़मेर में प्राप्त करने के पश्चात आपने 1942 में चैपासनी स्कूल जोधपुर से मैट्रिक परीक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण कर उच्च शिक्षा हेतु पिलानी गये। सन् 1944 में नागपुर से वकालात की परीक्षा पास कर बाड़मेर आये एवं बाड़मेर नगरपालिका के अध्यक्ष चुने गए। 1952 एवं 1957 में आप बाड़मेर से विधायक चुने गए। 1962 में संसार के सबसे बड़े लोकसभा क्षेत्र बाड़मेर जैसलमेर से मात्र 9 हजार रुपये खर्च कर सांसद चुने गए। 1979 को आपने अपनी शक्ति स्वरूपा माता की गोद में अंतिम सांस ली। आप प्रथम विधानसभा में कुछ माह नेता प्रतिपक्ष भी रहे। श्री क्षत्रिय युवक संघ जैसी अनूठी संस्था को जन्म देने वाले पूज्य तनसिंह जी राजनीतिज्ञ के साथ-साथ उत्कृष्ट कोटी के लेखक, कवि, वकील, व्यवसायी, श्रेष्ठ वक्ता, कर्मठ कार्यकर्ता भक्त, विचारक भी थे।