पूज्य श्री तनसिंह जी द्वारा रचित पुस्तकें

श्री क्षत्रिय युवक संघ के पथ पर चलने वालों पथिकों और आने वाली देश की नई पीढियों के लिए प्रेरणा स्वरूप स्व.श्री तनसिंह जी एक प्रेरणादायक सबल साहित्य का सर्जन कर गए | उन्होंने अनेक पुस्तकें लिखी जो जो पथ-प्रेरक के रूप में आज भी हमारा मार्ग दर्शन करने के लिए पर्याप्त है |

1-राजस्थान रा पिछोला 

2-समाज चरित्र 

3- बदलते द्रश्य 

4- होनहार के खेल 

5- साधक की समस्याएं 

6- शिक्षक की समस्याएं 

7- जेल जीवन के संस्मरण 

8- लापरवाह के संस्मरण 

9-पंछी की राम कहानी 

10- एक भिखारी की आत्मकथा 

11- गीता और समाज सेवा 

12- साधना पथ 

13- झनकार( तनसिंहजी द्वारा रचित 166 गीतों का संग्रह)

-श्री क्षत्रिय युवक संघ

FacebookTwitterGoogle+Share