jayantin

श्री क्षत्रिय युवक संघ के तृतीय संघप्रमुख (1969-1989) श्रद्धेय श्री नारायणसिंह जी की 77वीं जयन्ती कल 30 जुलाई को देशभर में प्रान्त एवं शाखा स्तर पर मनाई गई। जयपुर स्थित केन्द्रीय कार्यालय संघशक्ति भवन में जयंती समारोह को संबोधित करते हुए माननीय संघप्रमुख श्री ने कहा कि नारायणसिंह जी ने जिस पारिवारिक भाव से संघ को सींचा, वही भाव हमको सम्पूर्ण समाज में प्रसारित करना है। यह हमारा दायित्व है, इसे निभाते समय यह सदैव याद रखना चाहिए कि यह दायित्व ईश्वर द्वारा दिया हुआ है। हमें नारायणसिंह जी ने आदर्श स्वयंसेवक का जीवन जीकर दिखाया है, हमें उसी मार्ग पर चलना है। इसी में हमारा एवं संसार का कल्याण है।
इसके अतिरिक्त मुम्बई, पुणे, दिल्ली, सूरत, काणेटी, खोडियार, मोरचंद, उदयपुर, जोधपुर, पाली, जालौर, बाड़मेर, चौहटन, बालोतरा, पोकरण, किरतासर, सुजानगढ़, कल्याणपुर, सांचौर, सायला, उण्डखा, डेलासर, सिवाणा सहित अनेक स्थानों पर समारोह पूर्वक जयंती मनाई गई, जिनमें हजारों स्वयंसेवकों ने भाग लेकर नारायणसिंह जी की भाँति आदर्श स्वयंसेवक बनने के मार्ग पर बढ़ने का संकल्प लिया। इसके अलावा भारत भर में जहां भी संघ के स्वयंसेवक रहते हैं वहां भी छोटे छोटे कार्यक्रम रखकर पूज्य श्री को याद किया। अनेक स्वयंसेवकों ने अपने परिवार के साथ बैठकर पूज्य नारायण सिंह जी के पारिवारिक भाव को अपनाने का संकल्प लिया।

FacebookTwitterGoogle+Share