6 से 11 जनवरी तक संघ के संचालन प्रमुख श्री लक्ष्मण सिंह बेन्याकाबास गुजरात प्रवास पर रहे। इस दौरान वहाँ के स्वयंसेवकों द्वारा राज्य के अलग-अलग भागों में चिंतन बैठकों का आयोजन किया गया, जिनमें गुजरात में संघ कार्य के और अधिक विस्तार पर चर्चा के साथ ही समाजबंधुओं को संघ के उद्देश्य, प्रणाली व सिद्धांतों की सांगोपांग जानकारी प्रदान की गई। 6 जनवरी को अहमदाबाद शहर स्थित राजस्थान राजपूत परिषद के भवन में प्रथम बैठक का आयोजन हुआ। इसके पश्चात गांधीनगर के सेक्टर-7 में स्थित शिव शक्ति मंदिर में रात्रि 8 से 10 बजे तक बैठक का आयोजन हुआ। 7 जनवरी को अहमदाबाद ग्राम्य प्रान्त के काणेटी गांव में सेवानिवृत समाजबंधुओं का एक स्नेहमिलन रखा गया, जिसमें संचालन प्रमुख जी ने आर्थिक व पारिवारिक जिम्मेदारी से निवृत्ति के बाद अब सामाजिक जिम्मेदारी के निर्वहन की बात कही। काणेटी में रात को विशेष शाखा लगाई गई, जिसमें स्वयंसेवकों के प्रश्नों का उत्तर संचालन प्रमुख जी द्वारा दिया गया। इस के पश्चात जिम्मेवार स्वयंसेवकों से आगामी कार्ययोजना पर चर्चा हुई। 8 जनवरी को भावनगर स्थित मनहर कुंवर बा राजपूत छात्रावास में कार्यक्रम का आयोजन हुआ। उसी दिन रात्रि को अवाणिया गांव में बैठक का आयोजन हुआ, जिसमें संभाग प्रमुख श्री धर्मेंद्र सिंह आम्बली भी उपस्थित रहे। अगले दिन 9 जनवरी को संचालन प्रमुख जी सुरेंद्रनगर स्थित संघ कार्यालय शक्तिधाम पहुंचे, जहाँ वरिष्ठ स्वयंसेवक श्री अजीत सिंह धोलेरा के सान्निध्य में कार्यक्रम आयोजित हुआ। 10 जनवरी को महेसाणा प्रान्त के पडूसमा गांव में कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इसी दिन शाम को बबासणा गांव में बैठक आयोजित हुई। इसके पश्चात बनासकांठा प्रान्त के चारों मंडलों में बैठकों का आयोजन हुआ। ये बैठकें क्रमशः पालनपुर तहसील के फतेपुर में , दियोदर स्थित महाराणा प्रताप होस्टल में, एम सी सभा हॉल थराद तथा राजपूत होस्टल धानेरा में आयोजित हुई।

Share