मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले की सुवासरा तहसील के गांव गैलाना में श्री क्षत्रिय युवक संघ का प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर 28-31 मई की अवधि में सम्पन्न हुआ। कालेश्वर मंदिर के प्रांगण में आयोजित इस शिविर में गैलाना, बोरखेड़ी, रूपारेल, गोवर्धनपुरा, किशोर पुरा, कुंताखेड़ी, देवरिया विजय, अँगारी, कचनारा, बरड़िया, घसोई आदि गांवों के लगभग 104 राजपूत बालकों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। शिविर संचालन संघ के केन्द्रीय कार्यकारी श्री प्रेम सिंह रणधा ने किया। उन्होंने शिविरार्थियों से कहा कि संघ इतनी दूर से आपके पास आया है- आपकी स्वयं से पहचान कराने के लिए। हम राजपूत है, हमारे पूर्वजों के बिना लोग गांव नहीं बसाते थे क्योंकि सभी प्रकार के अन्याय से प्रजा की रक्षा का दायित्त्व राजपूत का था और प्राण देकर भी राजपूत अपना दायित्त्व निभाते थे। आज हम अपने कर्त्तव्य को, अपने स्वधर्म को भूल गए है, उसी को स्मरण कराने का कार्य संघ कर रहा है।
शिविर की आयोजन व्यवस्था में सर्वश्री महेन्द्र सिंह फतेहगढ़, दयालसिंह सेदरा करनाली, शिवपालसिंह ढाबला देवल, विक्रमसिंह ढाबला भगवान, सुमेरसिंह, करणसिंह घसोई, नाहरसिंह अंगारी, रघुवीर सिंह, ईश्वरसिंह, ईश्वरसिंह (आर्मी) देवरिया विजय आदि ने सहयोग किया।

Share