विगत दिनों में श्री क्षत्रिय युवक संघ के छह प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, गुजरात तथा राजस्थान में सम्पन्न हुए, जिनमें दो बालिका शिविर भी सम्मिलित है।
उत्तरप्रदेश के घाटमपुर (कानपुर) स्थित बदनसिंह महाविद्यालय के परिसर में 25 से 28 दिसंबर की अवधि में प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर सम्पन्न हुआ, जिसमें घाटमपुर, मदूरी, बर्नाव, कूटरा, मकरनपुर, भद्रस, महोबा व बाँदा से शिविरार्थी सम्मिलित हुए। शिविर का संचालन संघ के संचालन प्रमुख श्री लक्ष्मण सिंह बेन्याकाबास ने किया। श्री अरविंद सिंह, श्री शैलेन्द्र सिंह, श्री इंद्रजीत सिंह, श्री कुलदीप सिंह, श्री मनमोदन सिंह आदि ने व्यवस्था में सहयोग किया। इसी प्रकार मध्यप्रदेश के मालवा प्रान्त में मंदसौर के पास स्थित कचनारा (नाहरगढ़) गांव में 24 से 27 सितंबर की अवधि में सम्पन्न हुआ। संघ के केन्द्रीय कार्यकारी श्री प्रेम सिंह रणधा के संचालन में सम्पन्न इस शिविर में सुवासरा तथा सीतामऊ क्षेत्र के 25 गाँवो के 160 युवा सम्मिलित हुए। राजस्थान से भी 15 सहयोगी शिविर में उपस्थित रहे। श्री महेंद्र सिंह फतेहगढ़ ने सहयोगियों के साथ मिलकर व्यवस्था का जिम्मा सम्भाला। गुजरात में कामरेज (सूरत) के जॉय एन जॉय वीकेंड होम में एक प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर 23 से 25 दिसंबर की अवधि में सम्पन्न हुआ। श्री महेंद्र सिंह पांची के संचालन में सम्पन्न इस शिविर में क्षेत्र के 110 शिविरार्थी सम्मिलित हुए। इसी प्रकार राजस्थान में नागौर में मेड़ता सिटी स्थित श्री चारभुजा राजपूत छात्रावास में 25 से 28 दिसंबर की अवधि में शिविर का आयोजन हुआ, जिसका संचालन श्री नत्थू सिंह छापड़ा ने किया। शिविर में भुणास, जिटिया, रिया बड़ी, रासलियावास, ओलादन, बिटन, मेड़ता सिटी, मेड़ता रोड़, इटावड़ा, दधवाड़ा आदि गाँवों के 105 युवाओं ने प्रशिक्षण प्राप्त किया।
इसी प्रकार बालिकाओं के दो प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर पुष्कर व बालोतरा में सम्पन्न हुए। पुष्कर में ब्रह्मा मंदिर के पास स्थित जयमलकोट में शिविर का आयोजन हुआ। 26 से 29 दिसंबर की अवधि में सम्पन्न इस शिविर का संचालन श्रीमती रतन कँवर सेतरावा ने किया। शिविर में जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़, नागौर जिलों से 120 बालिकाओं ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। इसी प्रकार बालोतरा में वीर दुर्गादास राजपूत छात्रावास में 25 से 28 दिसंबर की अवधि में बालिका शिविर आयोजित हुआ, जिसका संचालन श्रीमती उषा कँवर पाटोदा ने किया। शिविर में क्षेत्र की लगभग 140 बालिकाओं ने प्रशिक्षण प्राप्त किया।

Share