प्राथमिक प्रशिक्षण शिविर संघ के विचारदर्शन को व्यावहारिक स्वरूप प्रदान करने की प्राथमिक प्रयोगशाला है, जिसमें शिविर संचालक का सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण दायित्व है। अतः शिविर संचालकों को उनके दायित्व निर्वहन में सहायक तथ्यों एवं मनोविज्ञान से अवगत कराने के उद्देश्य से एक कार्यशाला आज दिनांक 01.07.2018 को जोधपुर में बीजेएस कॉलोनी स्थित एक निजी संस्थान के ट्रेनिंग सेंटर में सम्पन्न हुई। कार्यशाला में बाड़मेर, बालोतरा, जैसलमेर, पोकरण, बीकानेर, नागौर, जालोर और जोधपुर सम्भागों के कुल 54 स्वयंसेवकों ने भाग लिया। सभी स्वयंसेवक शनिवार की रात्रि को पहुंच गए थे। संघ के संचालन प्रमुख श्री लक्ष्मण सिंह जी बैण्याकाबास के निर्देशन में सम्पन्न कार्यशाला में शिविर का कार्यक्रम बनाने, ध्वज स्थापना, जगह के चयन, व्यवस्था आदि को लेकर बरती जाने वाली सावधानियों की बात की गई। घट वितरण, ध्वज स्थापना से लेकर विदाई तक के सभी कार्यक्रमों के समय ध्यान में रखी जाने योग्य बातों को बताया गया।
संचालन प्रमुख ने कहा कि शिविर संचालक शिविर में माननीय संघ प्रमुख जी का प्रतिनिधि होता है इसलिए उसे पूर्ण आत्मविश्वास एवं तैयारी के साथ अपना दायित्व निभाना चाहिए।

Share