25 जनवरी को श्री क्षत्रिय युवक संघ के संस्थापक पूज्य श्री तनसिंह जी की 95वीं जयन्ती थी जिसे पूरे देश में स्वयंसेवकों व समाजबंधुओं द्वारा उत्साहपूर्वक मनाया गया। 20 से 27 जनवरी तक देशभर में विभिन्न स्थानों पर पूज्यश्री की स्मृति में जयन्ती कार्यक्रम आयोजित हुए, जिनके संक्षिप्त समाचार यहाँ प्रस्तुत है।
जयपुर में केन्द्रीय कार्यालय ‘संघशक्ति भवन’ में माननीय संघप्रमुख श्री के सान्निध्य में 27 जनवरी को जयन्ती समारोह सम्पन्न हुआ। समारोह को संबोधित करते हुए संघप्रमुख श्री ने कहा कि पूज्य श्री तनसिंह जी ने अपना सम्पूर्ण जीवन क्षात्रधर्म के लिए जिया। उनकी एक सीख भी हमारे जीवन को सार्थक बनाने के लिए पर्याप्त है। आवश्यकता केवल इतनी है कि हम क्षत्रिय युवक संघ के संपर्क में निरन्तर बने रहें। गुजरात के बनासकांठा प्रान्त में वाव तहसील के रेलुची गांव स्थित आशापुरा मंदिर में वरिष्ठ स्वयंसेवक श्री अजित सिंह धोलेरा के सान्निध्य में तनसिंह जी की जयन्ती मनाई गई। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अजित सिंह जी ने कहा कि तनसिंह जी राम और कृष्ण की परंपरा के महापुरुष हैं जिन्होंने अपने जीवन-चरित्र से भटकी हुई मानवता को राह दिखाई। श्री क्षत्रिय युवक संघ गीता के क्रियात्मक ज्ञान का ही स्वरूप है। यह सम्पूर्ण योग मार्ग है, जिस पर चलने वाले का कुशल-क्षेम स्वयं परमेश्वर वहन करते हैं।
उत्तरप्रदेश के बिजनौर जिले के मोरना में स्थित महाराजा मुकुट सिंह शेखावत संस्थान के प्रांगण में 27 जनवरी को पूज्य श्री तनसिंह जी की जयन्ती वरिष्ठ स्वयंसेवक श्री दीप सिंह बेन्याकाबास के सान्निध्य में मनाई गई। उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रेम और अपनत्व ही संगठन का आधार है। इसीलिए तनसिंह जी ने अपने स्नेह, प्रेम और अपनत्व से संघ को सींचा है। प्रांतप्रमुख रेवतसिंह धीरा भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे। 27 जनवरी को ही चित्तौड़गढ़ स्थित भूपाल राजपूत छात्रावास में संघ के संचालन प्रमुख श्री लक्ष्मण सिंह बेन्याकाबास के सान्निध्य में जयन्ती समारोह आयोजित हुआ। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि तनसिंह जी ने संघ की स्थापना गीता को आधार बनाकर की है। कार्यक्रम को जौहर स्मृति संस्थान के अध्यक्ष श्री तख्त सिंह जी फाचर, लोकेन्द्र सिंह जी ज्ञानगढ़, मीना कुंवर चाकूडा, नरपतसिंह भाटी, देवेन्द्र सिंह आसीन्द ने भी संबोधित किया। संघ के केंद्रीय कार्यकारी श्री गंगा सिंह साजियाली के साथ सर्वश्री लालसिंह भाटी, गजेन्द्रसिंह, अनिरुद्ध सिंह भाटी, घनसिंह राठौड़ आदि अनेकों गणमान्य समाजबंधु भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।
गुजरात में अहमदाबाद ग्राम्य प्रान्त में काणेटी गांव में पूज्यश्री की जयन्ती संभागप्रमुख श्री दीवानसिंह काणेटी की उपस्थिति में मनाई गई। साणंद की मंगलतीर्थ सोसाइटी में भी 27 जनवरी को जयन्ती मनाई गई। मोरचंद में भी जयन्ती कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें वरिष्ठ स्वयंसेवक छनुभा पच्छेगाम उपस्थित रहे। नारी में जयन्ती कार्यक्रम खोडियार प्रांतप्रमुख मंगलसिंह धोलेरा की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। अवाणिया के जयन्ती समारोह में केन्द्रीय कार्यकारी श्री महेंद्रसिंह पांची उपस्थित रहे। महेसाणा के डाभला में आयोजित जयन्ती समारोह में संभागप्रमुख विक्रमसिंह कमाणा उपस्थित रहे। महेसाणा के पालोदर व भैंसाणा में भी कार्यक्रम आयोजित हुए। इसके अतिरिक्त धोलेरा, गोंडल तथा मोटी चंदुर में भी कार्यक्रम आयोजित हुए।
मुम्बई प्रान्त की शाखाओं द्वारा मंडल स्तर पर पूज्यश्री की जयन्ती मनाई गई। दक्षिण मुम्बई मंडल में तनेराज शाखा द्वारा गिरगांव चौपाटी पर कार्यक्रम रखा गया, जिसका शुभारंभ हल्देश्वर मठ पीपलून के भीमगिरी जी महाराज द्वारा दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। तत्पश्चात पूज्यश्री की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। इसी प्रकार उत्तर मुम्बई मण्डल की शिवाजी शाखा तथा हार्बर मण्डल की कल्ला रायमलोत शाखा कल्याण में कार्यक्रम रखा गया। दिल्ली प्रान्त की शास्त्रीनगर व घामडोज शाखा में भी 25 जनवरी को पूज्यश्री तनसिंह जी की जयन्ती मनाई गई।
जालोर संभाग में भी विभिन्न स्थानों पर जयन्ती कार्यक्रम आयोजित हुए। पाली प्रान्त के अंतर्गत रानी स्थित आदर्श विद्या मन्दिर के प्रांगण में 27 जनवरी को पूज्यश्री की जयन्ती केन्द्रीय कार्यकारी श्री प्रेमसिंह रणधा की उपस्थिति में मनाई गई। सिरोही प्रान्त के देलदर गांव में आयोजित जयन्ती कार्यक्रम में संभाग प्रमुख अर्जुन सिंह देलदरी उपस्थित रहे। कार्यक्रम को डॉ. गणपतसिंह सराणा ने भी संबोधित किया। जालोर संभाग के अन्तर्गत ही सायला स्थित जलंधरनाथ राजपूत छात्रावास में 25 जनवरी को जयन्ती कार्यक्रम प्रांतप्रमुख श्री गणपत सिंह भवराणी की उपस्थिति में आयोजित हुआ। कार्यक्रम को जिला परिषद सदस्य श्री गणपत सिंह बालोत तथा श्री भवानी सिंह ने भी संबोधित किया। इस दौरान युवक कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष पन्नेसिंह पोषाणा, कांग्रेस किसान प्रकोष्ठ ब्लॉक अध्यक्ष महेन्द्रसिंह पोषाणा, दलपत सिंह तूरा, इन्द्रसिंह बोरवाडा़, हीर सिंह सिराणा, नाहर सिंह जाखडी़, दीप सिंह दूदवा, दिग्विजयसिंह धनानी, ईश्वर सिंह रानिवाडा, खुशापाल सिंह मोरूआ, जितेन्द्रसिंह अगवरी, एडवोकेट समंदर सिंह निंबलाना, गंगा सिंह पादरू, खुशपाल सिंह असाडा, अमर सिंह चांदना, हिम्मतसिंह आकवा, गणपत सिंह भाटा, भवानी सिंह, ईश्वर सिंह भाटा, जगमाल सिंह देता सहित अनेकों समाजबंधु उपस्थित रहे। भीनमाल स्थित श्री नृपालदेवजी राजपूत छात्रावास में भी जयन्ती कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें प्रांतप्रमुख नाहरसिंह जाखड़ी उपस्थित रहे। इसी प्रकार सांचौर-रानीवाड़ा प्रान्त द्वारा सांचौर स्थित श्री राव बल्लूजी छात्रावास में भी जयन्ती कार्यक्रम का आयोजन हुआ। आहोर मंडल में मोरुआ व बेदाना की बालिका शाखाओं द्वारा संयुक्त रूप से पूज्यश्री की जयंती मनाई गई। पाली के धींगाणा गांव की महिला शाखा द्वारा भी पूज्यश्री की जयन्ती मनाई गई, जिसमें प्रांतप्रमुख महोब्बत सिंह धींगाणा उपस्थित रहे।
जोधपुर संभाग में जोधपुर शहर स्थित संघ कार्यालय ‘तनायन’ में 25 जनवरी को संघ के विद्यार्थी प्रकोष्ठ के तत्वावधान में जयन्ती मनाई गई जिसमें केंद्रीय कार्यकारी श्री प्रेमसिंह रणधा व श्री रेवन्त सिंह पाटोदा व प्रांतप्रमुख श्री उम्मेदसिंह सेतरावा उपस्थित रहे। तनायन के अतिरिक्त सरदार होस्टल व हनुवंत होस्टल के विद्यार्थी भी कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। जोधपुर संभाग में ही बेलवा स्थित श्री मंगल बाल उच्च माध्यमिक विद्यालय में तनसिंह जी की जयन्ती मनाई गई। इसी प्रकार संभाग के भोपालगढ़ प्रान्त के रूदिया गांव में भी जयन्ती समारोह रखा गया। जोधपुर के नांदड़ी में भी 27 जनवरी को पूज्यश्री की जयंती मनाई गई। तिंवरी में भी 25 जनवरी को पूज्यश्री की जयन्ती मनाई गई। शेरगढ़ प्रान्त के अंतर्गत सेखाला, लवारन, बेलवा, राजगढ़, देवातु तथा लोडता में जयन्ती कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। सेखाला में मंडल स्तर पर तथा अन्य स्थानों पर शाखा स्तर पर जयन्ती मनाई गई।
नागौर संभाग में कुचामन प्रांत द्वारा पूज्य श्री तन सिंह जयंती सप्ताह का आयोजन किया गया, जिसके दौरान श्री हनुमत राजपूत छात्रावास कुचामन सिटी, श्री आयुवान निकेतन कुचामन सिटी, श्री योगेश्वर छात्रावास कुचामन सिटी, जगदंबा कॉलोनी कुचामन सिटी, बाल शाखा कुचामन सिटी, कांकरिया कॉलोनी कुचामन सिटी व गांव आनंदपुरा में कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। नागौर प्रान्त के गुगरियाली में भी शाखा स्तर पर जयंती मनाई गई। इसी प्रकार बालोतरा शहर के वीर दुर्गादास राजपूत बोर्डिंग तथा नागाणाराय होस्टल में जयन्ती कार्यक्रमों का आयोजन हुआ, जिसमें संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक चन्दन सिंह चांदेसरा उपस्थित रहे। बालोतरा में आवासन मंडल की शाखा में भी जयन्ती मनाई गई। बाड़मेर के स्टेशन रोड स्थित मल्लीनाथ राजपूत छात्रावास में भी वरिष्ठ स्वयंसेवक कमलसिंह जी चूली की उपस्थिति में जयन्ती मनाई गई। प्रांतप्रमुख महिपालसिंह चूली भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे। बाड़मेर के शिव तथा उण्डखा में भी 25 जनवरी को पूज्यश्री की जयन्ती मनाई गई। पादरू में जैतमाल राजपूत छात्रावास की नारायण शाखा में भी जयन्ती मनाई गई।
सिवाणा में पादरड़ी रोड स्थित जैतमाल गुरुकुल होस्टल में भी 25 जनवरी को पूज्य श्री तनसिंह जी की जयंती मनाई गई। वरिष्ठ स्वयंसेवक प्रेमसिंह राणीगांव तथा चतुर सिंह सागु ने कार्यक्रम को संबोधित किया। कल्याणपुर प्रान्त के दईपडा खींचियान की बालशाखा में भी 25 जनवरी को जयन्ती मनाई गई। कल्याणपुर प्रान्त की थोब और रेवाडा शाखा में भी जयन्ती मनाई गई, जिनमें सर्वश्री वीरमसिंह थोब, हरिसिंह थोब, हुकमसिंह थोब, खेतसिंह चांदेसरा, नरेन्द्र सिंह, महेन्द्र सिंह, बाबूसिंह रेवाडा आदि उपस्थित रहे। इसी प्रकार बीकानेर जिले के पूगल कस्बे में जयन्ती कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसे सर्वश्री खींवसिंह सुलताना, शक्ति सिंह आशापुरा, गोपालसिंह पूगल तथा भीमसिंह पूगल ने संबोधित किया। संचालन श्री प्रभुसिंह पूगल ने किया। इसी प्रकार गुड़ामालानी प्रान्त में संस्कारधाम छात्रावास में 25 जनवरी को जयन्ती कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसी प्रकार चौहटन स्थित भवानी क्षत्रिय बोर्डिंग हाउस में भी कार्यक्रम आयोजित हुआ जिसका संचालन प्रांतप्रमुख उदय सिंह देदूसर ने किया। कुंडल स्थित नागणेची माता मंदिर में भी जयन्ती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित हुआ। बालियाना शाखा में जयन्ती कार्यक्रम रखा गया, जिसमें संघ के स्वयंसेवकों तथा ग्रामवासियों ने पूज्यश्री को श्रद्धांजलि अर्पित की।
जैसलमेर संभाग के चांधन प्रान्त में मुलाना गांव स्थित शाखा मैदान में पूज्यश्री की जयन्ती संभागप्रमुख गोपाल सिंह रणधा तथा वरिष्ठ स्वयंसेवक बाबू सिंह बेरसियाला की उपस्थिति में मनाई गई। झिंझनियाली प्रान्त में भी श्री भगवती विद्यालय, झिंझनियाली में 25 जनवरी को पूज्य श्री की जयन्ती वरिष्ठ स्वयंसेवक श्री रेवन्त सिंह झिंझनियाली की उपस्थिति में मनाई गई। शिव प्रान्त में भारती विद्या मंदिर, शिव में समारोह पूर्वक पूज्यश्री की जयन्ती मनाई गई जिसमें वरिष्ठ स्वयंसेवक भवानीसिंह मुंगेरिया तथा प्रांतप्रमुख राजेन्द्रसिंह भिंयाड़ उपस्थित रहे। रतनगढ़ के गाँव नुंवा में भी 25 जनवरी को जयंती समारोह मनाया गया तथा बीकानेर के पुन्दलसर गांव में भी 27 जनवरी को पूज्यश्री की जयंती मनाई गई। इसी प्रकार उदयपुर में भूपाल नोबल्स पी जी कॉलेज में महाराणा सांगा शाखा द्वारा 27 जनवरी को तनसिंह जी की जयंती मनाई गई, जिसमें संभाग प्रमुख भंवरसिंह बेमला उपस्थित रहे। डाबियो का गुड़ा की झाला मान शाखा में भी पूज्यश्री की जयंती मनाई गई। सीकर प्रान्त के अंतर्गत सीकर शहर में स्थित कल्याण राजपूत छात्रावास, दुर्गा महिला संस्थान, मीरा स्कूल और बिडोली हाउस तथा पद्मिनी छात्रावास में भी पूज्यश्री तनसिंह जी की जयन्ती मनाई गई। अजमेर में केकड़ी में भी जयन्ती समारोह का आयोजन हुआ।
इसके अतिरिक्त दुबई में भी तनसिंह जी की जयन्ती मनाई गई, जिसमें वहाँ रहने वाले समाजबंधुओं ने पूज्य श्री को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

Share