श्री क्षत्रिय युवक संघ के कर्मचारी प्रकोष्ठ द्वारा युवा पीढ़ी को कैरियर निर्माण सम्बन्धी मार्गदर्शन प्रदान करने तथा उनकी ऊर्जा को समाजहित में नियोजित करने के उद्देश्य से विभिन्न जिलों में युवा मार्गदर्शन व संवाद कार्यशालाएँ आयोजित की जा रही है। इसी क्रम में आज दिनांक 16 सितंबर,2018 को पोकरण स्थित राजपूत छात्रावास में कार्यशाला का आयोजन हुआ। संघ के केंद्रीय कार्यकारी श्री रेवन्त सिंह पाटोदा के संचालन में सम्पन्न कार्यक्रम में श्री महेंद्र प्रताप सिंह गिराब (आर.ए.एस), श्री सज्जन सिंह सांकड़ा (आर.पी.एस), राजस्थान लेखा सेवा के अधिकारी श्री देरावरसिंह सांकड़ा व श्री दलपत सिंह गुड़ा केशर सिंह तथा श्री भुवनेश्वर सिंह माताजी का गुड़ा (BDO) ने युवाओं की कैरियर सम्बन्धी जिज्ञासाओं का समाधान किया। श्री महेंद्र सिंह ने आर.ए.एस प्री व मेन परीक्षा की जानकारी देते हुए बताया कि किसी भी परीक्षा को असम्भव नहीं समझे क्योंकि जो एक व्यक्ति ने किया है, उसे अन्य व्यक्ति भी कर सकते हैं। परीक्षा की तैयारी में उन्होंने विगत वर्षों के प्रश्नपत्र हल करने, नियमित अखबार पढ़ने, आल इंडिया रेडियो पर न्यूज सुनने सहित अनेक बिंदुओं का महत्त्व समझाया। श्री सज्जनसिंह सांकड़ा ने अपने अनुभवों को युवाओं के साथ साझा करते हुए कहा कि स्वप्रेरणा के जागृत होने पर सब संभव है। अपनी शत प्रतिशत ऊर्जा को लक्ष्यप्राप्ति हेतु नियोजित करें, सफलता अवश्य मिलेगी। श्री देरावर सिंह सांकड़ा ने संघ को अपनी प्रेरणा का स्रोत बताते हुए कहा कि पूज्यश्री तनसिंह जी की पंक्ति – ‘अपने आप को उठाना सारी कौम को उठाना है’ मेरा आदर्श बनी और स्वयं जिम्मेदारी उठाने की महत्त्वपूर्ण शिक्षा मिली। श्री दलपतसिंह ने कहा कि हम युद्ध में सदैव आगे रहे हैं किन्तु बौद्धिक रूप भी कभी पीछे नहीं रहे हैं। अतः अपनी क्षमताओं पर विश्वास करें और तैयारी में जीत जाएं। युद्ध की अपेक्षा पढ़ना कोई कठिन कार्य नहीं है।
श्री रेवंतसिंह पाटोदा ने कहा कि किसी भी परीक्षा की तैयारी हेतु सकारात्मक ऊर्जा की आवश्यकता होती है अतः संघ के शिविरों व शाखा में निरंतर आते रहें, जिससे कोई नकारात्मक प्रवृत्ति हम पर हावी न हो सके।

Share