“इन सात दिनों में श्री क्षत्रिय युवक संघ के सतत सान्निध्य में रहकर आपने जो संस्कार अर्जित किए हैं, उन्हें अपने तक सीमित नहीं रखना है, अपितु आगे परिवार, कुटुम्ब, समाज और राष्ट्र में बांटना है। यहां सीखी छोटी-छोटी बातों को अभ्यास द्वारा जीवन में उतारने का प्रयत्न करें। संसार मे जो शिक्षा मिलती है, उसकी उपयोगिता केवल पेट भरने तक ही सीमित है। पहले की भांति संस्कार, आदर्श और जीवन-मूल्यों का इस शिक्षा में समावेश नहीं है। इसीलिए संघ उस शिक्षा को आप तक पहुंचा रहा है। हमें परमेश्वर ने क्षत्रिय कुल में जन्म दिया है, उसे गफलत में नहीं गँवाना है। हमें महान कार्य करने हैं, इसलिए पहले स्वयं को मजबूत बनाना होगा। हमारे पूर्वज त्याग और बलिदान की जिस राह पर चले थे, उसी राह को पूज्य श्री तनसिंह जी ने हमें प्रदान किया है, उस पर चल कर हम अपने जीवन को सफल बना सकते हैं।”

यह संदेश माननीय संघप्रमुख श्री ने जैसलमेर में 28 मई से 03 जून,2018 की अवधि में सम्पन्न बालिका वर्ग माध्यमिक प्रशिक्षण शिविर के विदाई कार्यक्रम में दिया। विदाई कार्यक्रम के पश्चात स्नेहमिलन कार्यक्रम भी रखा गया, जिसमें जैसलमेर की पूर्व महारानी श्रीमती राज्य लक्ष्मी रासेश्वरी, भँवर शिवेंद्र सिंह, विधायक श्री छोटू सिंह, पूर्व विधायक श्री सांग सिंह, श्री दिलीप सिंह नारायण बाग, पूर्व प्रधान श्री देवी सिंह बरमसर, श्री अभयसिंह झिंझनियाली, श्री वीरेंद्र सिंह लोहारकी, श्री सवाई सिंह पिथला सहित अनेकों गणमान्य समाजबंधु सम्मिलित हुए।

Share