हमारे प्रणेता

पूज्य तनसिंह जी, संस्थापक (श्री क्षत्रिय युवक संघ)

अपना जीवन देकर सबका जीवन खरीदने वाले, अपने कर्त्तव्य को ही जीवन की सार्थकता और गहन उत्तरदायित्व समझने वाले, अपने आपको संपूर्ण रुप से अपने लक्ष्य से बांधने वाले, समाज में अनुशासन की भावना भरने के लिए स...

अधिक जानें
स्व. आयुवानसिंह हुडील – द्वितीय संघप्रमुख

जुझारुपन एवं संघर्षप्रियता के पर्याय, अपने सहयोगियों के बीच माट्साब के नाम से प्रसिद्ध पूज्य आयुवानसिंह हुडील संघ के द्वितीय संघप्रमुख थे। आपका जन्म 17 अक्टूबर 1920 को साधारण राजपूत परिवार में नागौर ज...

अधिक जानें
पूज्य नारायणसिंह रेड़ा – तृतीय संघ प्रमुख

पूज्य तनसिंह जी ने श्री क्षत्रिय युवक संघ के मार्ग को मानव जीवन के लक्ष्य की आरे बढाने वाला राजमार्ग बताया और पूज्य नारायणसिंह ने अपने जीवन के माध्यम से यह सिद्ध किया कि पूज्य तनसिंह जी की बात अक्षरशः...

अधिक जानें
श्री भगवानसिंह रोलसाहबसर, वर्तमान संघ प्रमुख

संघ के वर्तमान संघ प्रमुख माननीय भगवानसिंह रोलसाहबसर का जन्म 2 फरवरी 1944 को सीकर जिले की फतेहपुर तहसील के रोलसाहबसर गांव में हुआ। आप पिता श्री मेघसिंहजी एवं माताजी श्रीमती गोम कंवर की पांचवीं संतान ह...

अधिक जानें